Festivals Whatsapp Status

26 January Happy Republic Day Quotes , Status ,Essay , Wishes , Sms 2018 In Hindi

हर वर्ष 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाया जाता है. इसके लिए सरकारी दफ्तरों, स्कूलों, पुस्तकालयों एवं अन्य जगह पर सांस्कृतिक आयोजन , भाषण प्रतियोगिता (speech ) का आयोजन किया जाता है. यहाँ पर भाषण का एक नमूना दिया जा रहा है. जिसे यादकर छात्र अपना स्पीच दे सकते हैं. 

26 जनवरी

 

पूज्य गुरुजनो, सहपाठियो और आगंतुक सज्जनो! ( संबोधन को अपने भाषण और स्कूल के अनुरूप change कर सकते हैं) आज मेरे लिए हर्ष का विषय है कि मैं आपके समक्ष गणतंत्र दिवस पर कुछ बोलने आया/ आई हूँ. (आवश्यकतानुसार लिंग में परिवर्तन कर ले)

 जो भरा नहीं है भावो से बहती जिसमे रसधार नहीं
वह ह्रदय नहीं है पत्थर है 
जिसमे स्वदेश से प्यार नहीं.

आजादी किसे नहीं अच्छी लगती, चाहे सोने के पिंजरे में बंद पक्षी हो या रस्सी से बंधा जानवर. फिर मनुष्य की तो बात ही कुछ और है. माँ भारती अंग्रेजों के गुलामी की जंजीर में जकड़ी छटपटा रही थी, अपने बेटों को पुकार रही थी.
26 जनवरी 1930 को रावी के तट पर देशभक्तों ने कसम खाई कि

जबतक रहे फड़कती नस एक भी बदन में
हो रक्त बूँद भर भी जबतक हमारे तन में
छीने ने कोई हमसे प्यारा वतन हमारा
छूटे स्वदेश की ही सेवा में तन हमारा


कितने ही बलिदानों के बाद हमारा देश आजाद हुआ. मैं उन शहीदों को याद करना चाहता हूँ कि

नमन उन्हें मेरा शत बार
सुख रही थी बोटी बोटी
मिलती नहीं घास की रोटी
गढ़ते है इतिहास देश का
सह कर कठिन क्षुधा की मार
नमन उन्हें मेरा शत बार
औरशहीदों के मजारों पर लगेंगे हर बरस मेले
वतन पे मरनेवालों का यही बाकी निशां होगा


 उसी 26 जनवरी की याद में 26 जनवरी 1950 को हमारा संविधान लागु हुआ. आज आजादी के इतने बर्षो बाद भी क्या हम अपने संविधान के लक्ष्यों को प्राप्त कर पाएं हैं. गरीबी, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार, महिलओं पर अत्याचार, आदि अनेक समस्याएँ हमारे सामने मुंह बाये खड़ी है. साथ ही आतंकवाद हमारे तिरंगे की शान को चुनौती दे रहा है. आइए इस पावन दिवस पर हम सब शपथ लेते हैं कि

विजयी विश्व तिरंगा प्यारा
झंडा ऊँचा रहे हमारा
इसकी शान न जाने पाए
चाहे जान भले ही जाए.


इन्ही शब्दों के साथ मैं अपनी वाणी को विराम देता हूँ.

26 जनवरी हमारे देश का एक राष्ट्रीय पर्व है, इसे हम गणतंत्र दिवस भी कहते है.

Republic Day Essay in Hindi

जो भरा नहीं है भावों से
बहती जिसमें रसधार नहीं
वह ह्रदय नहीं है पत्थर है
जिसमें स्वदेश से प्यार नहीं

हर वर्ष हम लोग 26 जनवरी को  गणतंत्र दिवस के रूप में  मनाते हैं. चाहे संसद भवन हो या राज भवन, चाहे स्कूल हो या कॉलेज हर जगह तिरंगा फहराया जाता है, राष्ट्र गान गया जाता है. इंडिया गेट में झांकी निकाली जाती है जिसे देश विदेश में लोग आनंद् पूर्वक देखते और सराहते हैं.

26 जनवरी को लाहौर के रावी तट पर पंडित जवाहरलाल के नेतृत्व में हजारों देशवासियों ने अपने देश की आजादी के लिए मर- मिटने की कसमें खाई थी. जब हमारा देश आजाद हुआ तो देश को चलाने के लिए संविधान का निर्माण कार्य बाबा साहेब भीम राव के नेतृत्व में शुरू हुआ. अब इसे किस दिन लागू किया जाय, यह के विचारणीय प्रश्न था. 26 जनवरी १९३० की पुनीत तिथि की गरिमा और महत्व को देखते हुये इसी दिन यानि 26 जनवरी १९५० को हमारा संविधान लागू हुआ. देश को अपना संविधान मिला. भारत के इस नव गणतंत्र में जनता का, जनता के लिए और जनता द्वारा स्थापित शासन व्यवस्था लागू हुई. आखिर इसी में तो प्रजातंत्र की आत्मा बसती है.

आज की यह शुभ घड़ी यूँ ही नहीं आयी है. इसके पीछे त्याग, बलिदान और संघर्ष की एक लम्बी गाथा है. हजारों लोगों ने अपनी कुर्बानियां दी. कितनी माताओं की गोद सूनी हो गयी, कितनी बहनों के हाथ में रखी अपने भाइयों का इन्तजार करती रह गयी. उन तमाम जाने- अनजाने वीरों को शत शत नमन.

Republic Day Quotes In Hindi :

DESH bahkto ki balidaan se
SWATNATRA huye hai hum
koi puche kon ho to GRAV se kahenge
Bhartiya hai hum…
HAPPY REPUBLIC DAY

 

On this day think of ur past &
Try to built better future for all of us..
It is a duty of all of us!!
I am proud to be an Indian.
Happy Republic Day

 

Aajadi ka josh kabhi kam na hone deinge,
Jab bhi zaroorat padegi desh ke liye jaan luta deinge.
Kyonki Bharat hamara desh hai ab dobara is par koi aanch na aane denge.
JAI HIND!!

Happy Republic Day! ~~~ 26 January Republic Day sms in hindi

Watan hamara misaal mohabbat ki,
Todta hai deewaar nafrat ki,
Meri khush naseebi mili zindagi is chaman mein.
Bhula na sake koi iski khushbu saton janam mein.
Happy Republic Day! ! Happy Republic Day sms !

 

Baha dengey lahoo ka ek ek katra
aey maa tere liye
desh hai hamara sabse acha
hai nahi koi aur tumhare liye
mera bharat mahaan
Happy republic day 2018

 

Daag GULAMi ka dhoya hai jaan Luta kar
Deep jalaye hai kitne DEEP bhujha kar
Mili hai jab yeh AZADi to fir is azadi ko
Rakhna hoga har DUSHMAN se aaj bachakar.

 

वतन हमारा ऐसा कोई ना छोड पाये ,रिश्ता हमारा ऐसा कोई न तोड़ पाये ,दिल एक है  जान एक है हमारी , हिन्दुस्तान हमारा है यह शान हैं हमारी।गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें ।

 

आओ झुक कर सलाम करे उनको; जिनके हिस्से में ये मुकाम आता है; खुशनसीब होता है वो खून जो देश के काम आता है! गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं!

 

Saare jahan se achchha Hindusitan humara-Hum bul-bule hain iske Ye Gulsitan humara-humara hindi he hum hindi he hum hindosita humara

 

Jai Hind.

Aae watan hum ko teri kasam teri raahon me jaan tak luta jayenge ful kya cheez hai tere kadmo mein hum bhet apne saron ki chadha jayenge.

 

Happy Republic Day !!

Aao jhuk kar salam kare unko, jinke hisse me ye mukam aata hai, khusnasib hota hai wo khoon jo desh ke kaam aata hai, ‘HAPPY REPUBLIC DAY’

 

सोचता हूँ क्या दे पाउँगा जो मैंने पाया है इस देश से क्या मैं कभी चुका पाउँगा जो मैंने पाया है इस देश से ||

 

Kuch Nasha ‘TIRANGE’ ki Aaan ka h. Kuch Nasha ‘MATRBHUMI’ ki Shaan ka h. Hum Lahrayenge har Jagah ye ‘TIRANGA’ Nasha Ye ‘HINDUSTAN’ ki Shaan ka h..

 

वक्त आने दे बता देंगे तुझे ऐ आसमाँ, हम अभी से क्या बतायें क्या हमारे दिल में है।

 

ऐ शहीदे – मुल्के -मिल्लत मैं तेरे ऊपर निसार, अब तेरी हिम्मत का चर्चा गैर की महफिलमें है।

वतन हमारा ऐसा कोई ना छोड पाये , रिश्ता हमारा ऐसा कोई न तोड़ पाये , दिल एक है जान एक है हमारी , हिन्दुस्तान हमारा है यह शान हैं हमारी। गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें ।

 

आओ झुक कर सलाम करे उनको, जिनके हिस्से में ये मुकाम आता है, खुशनसीब होता है वो खून जो देश के काम आता है…..!! गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं! जय हिंद वंदे मातरम माँ तुझे प्रणाम माँ तुझे सलाम वंदे मातरम… गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामना

 

आपको एवं आपके परिवार को गणतंत्र दिवस पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाऐं.

 

खाली पेट वाले झंडे बेच रहे हैं.. और भरे पेट वाले मुल्क ..!!

 

विकसित होता राष्ट्र हमारा, रंग लाती हर कुर्बानी है फक्र से अपना परिचय देते, हम सारे हिन्दोस्तानी है |

 

सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है देखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ए-क़ातिल में है

 

गणतंत्र दिवस पर आपको शुभकामनाएं .. इस देश का लोकतंत्र लोभ तंत्र से उबर कर वास्तविक लोकतंत्र हो जाएऐसी प्रभु से कामना है

गणतंत्र पर उद्धरण

Quote 1: We are Indians, firstly and lastly.




In Hindi: हम भारतीय हैं , पहले और आखिर में।

B. R. Ambedkar 

Quote 2: Citizenship consists in the service of the country.

In Hindi: नागरिकता देश की सेवा में निहित हैं.

Jawaharlal Nehru जवाहरलाल नेहरू

Quote 3: Toleration and liberty are the foundations of a great republic.

In Hindi: सहिष्णुता और स्वतंत्रता एक महान गणतंत्र की नींव हैं ।

 

Frank Lloyd Wright फ्रैंक लॉयड राइट

Quote 4: Society is a republic. When an individual tries to lift themselves above others, they are dragged down by the mass, either by ridicule or slander.

In Hindi: सोसायटी एक रिपब्लिक है। जब कोई खुद को औरों से ऊपर उठाना चाहता है तो उन्हें उपहास या बदनामी के द्वारा लोग नीचे खींच  लेते हैं।

Victor Hugo विक्टर ह्यूगो 

Quote 5: The Bible is the rock on which this Republic rests.

In Hindi: बाइबिल वो चट्टान है जिसपर ये गणतंत्र टिका है।

Andrew Jackson एंड्रू जैक्सन

Quote 6: In a republic this rule ought to be observed: that the majority should not have the predominant power.

In Hindi: किसी गणतंत्र में इस नियम का ध्यान रखना चाहिए कि बहुमत के पास प्रबल शक्ति ना हो।

Marcus Tullius Cicero मार्कस  टूलियस सिसेरो

Quote 7: The world is a republic of mediocrities, and always was.

In Hindi: दुनिया सामान्यता का एक गणराज्य है, और हमेशा था।

Thomas Carlyle थॉमस कार्लाइल

Quote 8: In the republic of mediocrity, genius is dangerous.

In Hindi: सामान्यता के गणराज्य में, प्रतिभा खतरनाक है।

Robert Green Ingersoll रोबर्ट ग्रीन इंगरसोल

Quote 9: I have always considered it as treason against the great republic of human nature, to make any man’s virtues the means of deceiving him.

In Hindi: मैंने हमेशा ये माना है कि किसी आदमी के गुण को उसे धोखा देने का साधन बनाना  मानव प्रकृति के महान गणतंत्र के खिलाफ राजद्रोह के सामान है।

Samuel Johnson  सैमुअल जॉनसन

Quote 10: The true republic: men, their rights and nothing more; women, their rights and nothing less.

In Hindi: सच्चा गणराज्य : आदमी , उनके अधिकार और कुछ नहीं , औरत, उनके अधिकार और उससे कम कुछ नहीं।

Franklin P. Adams फ्रेंकलिन पी. एडम्स

Quote 11: On what rests the hope of the republic? One country, one language, one flag!

In Hindi: गणतंत्र की उम्मीद किस पर टिकी हुई है? एक देश, एक भाषा, एक झंडा!

अलेक्जेंडर हेनरी Alexander Henry

Quote 12: Our constitution works. Our great republic is a government of laws, not of men.

In Hindi: हमारा संविधान काम करता है। हमारा माहन गणतंत्र कानूनों की सरकार है , पुरुषों की नहीं।

Gerald R. Ford गेराल्ड आर फोर्ड

Quote 13: The power to mould the future of the Republic will be in the hands of the journalists of future generations.

In Hindi: गणतंत्र का भाग्य बदलने की शक्ति भावी पीढ़ी के पत्रकारों के हाथों में होगी।

Joseph Pulitzer जोसेफ पुलित्जर

Quote 14: The president of the Arab Republic of Egypt is the commander of the armed forces, full stop.

In Hindi: अरब रिपब्लिक ऑफ़ इजिप्ट का राष्ट्रपति सशस्त्र बलों का कमांडर है , पूर्ण विराम।

Mohammed Morsi मुहम्मद मोर्सी

Quote 15: Our Republic and its press will rise or fall together.

In Hindi: हमारा गणतंत्र और उसकी प्रेस एक साथ उठेंगे  या गिर जायेंगे।

Joseph Pulitzer जोसेफ पुलित्जर

Quote 16: The new republic should be based on diversity, respect and equal rights for all.

In Hindi: नया गणतंत्र  विविधता, सम्मान और सभी के लिए समान अधिकार पर आधारित होना  चाहिए.

Evo Morales एवो मोरालेस

Quote 17: Law and order are the medicine of the body politic and when the body politic gets sick, medicine must be administered.

In Hindi: क़ानून  और  व्यवस्था  राजनीतिक  शरीर  की  दवा  है  और  जब  राजनीतिक  शरीर  बीमार  पड़े  तो  दवा  ज़रूर  दी  जानी  चाहिए .

B. R. Ambedkar  बी. आर.  अम्बेडकर

Quote 18: I feel that the constitution is workable, it is flexible and it is strong enough to hold the country together both in peacetime and in wartime. Indeed, if I may say so, if things go wrong under the new Constitution, the reason will not be that we had a bad Constitution. What we will have to say is that Man was vile.

In Hindi: मुझे लगता है संविधान व्यवहारिक है , ये शांतिकाल और युद्धकाल दोनों ही समय देश को बांधे रखने के लिए लचीला भी है और मजबूत भी। वास्तव में मैं कह सकता हूँ कि , यदि नए संविधान के अंतर्गत कुछ गलत होता है, तो उसका कारण ये नहीं होगा कि हमारा संविधान खराब है।  हमें ये कहना होगा कि ये मनुष्य की नीचता थी ।

B. R. Ambedkar  बी. आर.  अम्बेडकर

Quote 19: One thing is clear: The Founding Fathers never intended a nation where citizens would pay nearly half of everything they earn to the government.”

In Hindi: एक बात स्पष्ट है : हमारे संस्थापक कभी ऐसा देश नहीं चाहते थे जहाँ नागरिकों को लगभग अपनी पूरी कमाई का आधा हिस्सा सरकार को देना  पड़े।

Ron Paul  रॉन पॉल

Quote 20: I have a problem with people who take the Constitution loosely and the Bible literally.

In Hindi: मुझे उन लोगों से समस्या है जो संविधान को हलके में लेते हैं और बाइबिल को हकीकत में।

Bill Maher बिल मेहर

Quote 21: I love my country, not my government.

In Hindi: मैं अपने देश से प्रेम करता हूँ , अपनी सरकार से नहीं।

Jesse Ventura जेसी वेंचुरा

Quote 22: The dead should not rule the living.

In Hindi: मृत को जीवित पर शाशन नही करना चाहिए।

Thomas Jefferson थॉमस जेफरसन

Quote 23: Don’t interfere with anything in the Constitution. That must be maintained, for it is the only safeguard of our liberties.

In Hindi: संविधान में किसी चीज के साथ हस्तक्षेप नहीं कीजये।  उसे बनाये रखा जाना चाहिए , क्योंकि हमारे स्वतंत्रता का यही एक रक्षक है।

Abraham Lincoln  अब्राहम लिंकन


मातृभुमि के सम्मान एवं उसकी आजादी के लिये असंख्य वीरों ने अपने जीवन की आहूति दी थी। देशभक्तों की गाथाओं से भारतीय इतिहास के पृष्ठ भरे हुए हैं। देशप्रेम की भावना से ओत-प्रोत हजारों की संख्या में भारत माता के वीर सपूतों ने, भारत को स्वतंत्रता दिलाने में अपना सर्वस्य न्योछावर कर दिया था। ऐसे ही महान देशभक्तों के त्याग और बलिदान के परिणाम स्वरूप हमारा देश, गणतान्त्रिक देश हो सका।

गणतन्त्र (गण+तंत्र) का अर्थ है, जनता के द्वारा जनता के लिये शासन। इस व्यवस्था को हम सभी गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते हैं। वैसे तो भारत में सभी पर्व बहुत ही धूमधाम से मनाते हैं, परन्तु गणतंत्र दिवस को राष्ट्रीय पर्व के रूप में मनाते हैं। इस पर्व का महत्व इसलिये भी बढ जाता है क्योंकि इसे सभी जाति एवं वर्ग के लोग एक साथ मिलकर मनाते हैं।

गणतंत्र दिवस, 26 जनवरी को ही क्यों मनाते हैं? मित्रों, जब अंग्रेज सरकार की मंशा भारत को एक स्वतंत्र उपनिवेश बनाने की नजर नही आ रही थी, तभी 26 जनवरी 1929 के लाहौर अधिवेशन में जवाहरलाल नेहरुजी की अध्यक्षता में कांग्रेस ने पूर्णस्वराज्य की शपथ ली। पूर्ण स्वराज के अभियान को पूरा करने के लिये सभी आंदोलन तेज कर दिये गये थे। सभी देशभकतों ने अपने-अपने तरीके से आजादी के लिये कमर कस ली थी। एकता में बल है, की भावना को चरितार्थ करती विचारधारा में अंग्रेजों को पिछे हटना पङा। अंतोगत्वा 1947 को भारत आजाद हुआ, तभी यह निर्णय लिया गया कि 26 जनवरी 1929 की निर्णनायक तिथी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनायेंगे।

26 जनवरी, 1950 भारतीय इतिहास में इसलिये भी महत्वपूर्ण माना जाता है क्योंकि भारत का संविधान, इसी दिन अस्तित्व मे आया और भारत वास्तव में एक संप्रभु देश बना। भारत का संविधान लिखित एवं सबसे बङा संविधान है। संविधान निर्माण की प्रक्रिया में 2 वर्ष, 11 महिना, 18 दिन लगे थे। भारतीय संविधान के वास्तुकार, भारत रत्न से अलंकृत डॉ.भीमराव अम्बेडकर प्रारूप समिति के अध्यक्ष थे। भारतीय संविधान के निर्माताओं ने विश्व के अनेक संविधानों के अच्छे लक्षणों को अपने संविधान में आत्मसात करने का प्रयास किया है। इस दिन भारत एक सम्पूर्ण गणतान्त्रिक देश बन गया।देश को गौरवशाली गणतन्त्र राष्ट्र बनाने में जिन देशभक्तो ने अपना बलिदान दिया उन्हे याद करके, भावांजली देने का पर्व है, 26 जनवरी।

मित्रो, भारत से व्यपार का इरादा लेकर अंग्रेज भारत आये थे, लेकिन धीरे -धीरे उन्होने यहाँ के राजाओं और सामंतो पर अपनी कूटनीति चालों से अधिकार कर लिया। आजादी कि पहली आग मंगल पांडे ने 1857 में कोलकता के पास बैरकपुर में जलाई थी, किन्तु कुछ संचार संसाधनो की कमी से ये आग ज्वाला न बन सकी परन्तु, इस आग की चिंगारी कभी बुझी न थी। लक्ष्मीबाई से इंदिरागाँधी तक, मंगल पांडे से सुभाष तक, नाना साहेब से सरदार पटेल तक, लाल(लाला लाजपत राय), बाल(बाल गंगाधर तिलक), पाल(विपिन्द्र चन्द्र पाल) हों या गोपाल, गाँधी, नेहरु सभी के ह्रदय में धधक रही थी।

26 जनवरी की परेड

परेड विजय चौक से प्रारम्भ होकर राजपथ एवं दिल्ली के अनेक क्षेत्रों से गुजरती हुयी लाल किले पर जाकर समाप्त हो जाती है। परेड शुरू होने से पहले प्रधानमंत्री ‘अमर जवान ज्योति’ पर शहीदों को श्रंद्धांजलि अर्पित करते हैं। राष्ट्रपति अपने अंगरक्षकों के साथ 14 घोड़ों की बग्घी में बैठकर इंडिया गेट पर आते हैं, जहाँ प्रधानमंत्री उनका स्वागत करते हैं। राष्ट्रीय धुन के साथ ध्वजारोहण करते हैं, उन्हें 21 तोपों की सलामी दी जाती है, हवाई जहाजों द्वारा पुष्पवर्षा की जाती है।

आकाश में तिरंगे गुब्बारे और सफेद कबूतर छोड़े जाते हैं। जल, थल, वायु तीनों सेनाओं की टुकडि़यां, बैंडो की धुनों पर मार्च करती हैं। पुलिस के जवान, विभिन्न प्रकार के अस्त्र-षस्त्रों, मिसाइलों, टैंको, वायुयानो आदि का प्रदर्षन करते हुए देश के राष्ट्रपति को सलामी देते हैं। सैनिकों का सीना तानकर अपनी साफ-सुथरी वेषभूषा में कदम से कदम मिलाकर चलने का दृष्य बड़ा मनोहारी होता है। यह भव्य दृष्य को देखकर मन में राष्ट्र के प्रति भक्ति तथा ह्रदय में उत्साह का संचार होता है।

स्कूल, कॉलेज की छात्र-छात्राएं, एन.सी.सी. की वेशभूषा में सुसज्जित कदम से कदम मिलाकर चलते हुए यह विश्वास उत्पन्न करते हैं कि हमारी दूसरी सुरक्षा पंक्ति अपने कर्तव्य से भलीभांति परिचित हैं। मिलेट्री तथा स्कूलों के अनेक बैंड सारे वातावरण को देशभक्ति तथा राष्ट्र-प्रेम की भावना से गुंजायमान करते हैं। विभिन्न राज्यों की झांकियां वहाँ के सांस्कृतिक जीवन, वेषभूषा, रीति-रिवाजों, औद्योगिक तथा सामाजिक क्षेत्र में आये परिवर्तनों का चित्र प्रस्तुत करती हैं। अनेकता में एकता का ये परिदृष्य अति प्रेरणादायी होता है। गणतन्त्र दिवस की संध्या पर राष्ट्रपति भवन, संसद भवन तथा अन्य सरकारी कार्यालयों पर रौशनी की जाती है।

26 जनवरी का पर्व देशभक्तों के त्याग, तपस्या और बलिदान की अमर कहानी समेटे हुए है। प्रत्येक भारतीय को अपने देश की आजादी प्यारी थी। भारत की भूमि पर पग-पग में उत्सर्ग और शौर्य का इतिहास अंकित है। किसी ने सच ही कहा है-

कण-कण में सोया शहीद, पत्थर-पत्थर इतिहास है।

ऐसे ही अनेक देशभक्तों की शहादत का परिणाम है, हमारा गणतान्त्रिक देश भारत।

26 जनवरी का पावन पर्व आज भी हर दिल में राष्ट्रीय भावना की मशाल को प्रज्वलित कर रहा है। लहराता हुआ तिरंगा रोम-रोम में जोश का संचार कर रहा है, चहुँओर खुशियों की सौगात है। हम सब मिलकर उन सभी अमर बलिदानियों को अपनी भावांजली से नमन करें, वंदन करें।

जय हिन्द, जय भारत

 

About the author

Kunwar Sahil Dadwal

Hey Supporters, welcome to the my blog, IndiSupport! I’m Kunwar Sahil Dadwal, a professional blogger from Punjab, India.

I started Indisupport as a passion, and now it’s empowering more than 20,000+ readers globally by helping them to make money from their blog.

Here at IndiSupport, I write about starting & managing a blog, WordPress, social media, SEO, and making money online.

You can read more about at the “ About ” page.

Leave a Comment